हरिद्वार उत्‍तराखण्‍ड

डीएम एवं एसएसपी ने किया कांवड़ मेला-2023 की तैयारियों की दृष्टिगत कावंड़ मेला क्षेत्र का व्यापक निरीक्षण 

हरिद्वार। जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अजय सिंह ने रविवार को कांवड़ मेला-2023 की तैयारियों की दृष्टि से पूरे कावंड़ मेला क्षेत्र का व्यापक निरीक्षण किया।

जिलाधिकारी श्री धीराज सिंह गर्ब्याल एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्री अजय सिंह सर्वप्रथम मेला अस्पताल होते हुये हिलबाई पास की ओर बढ़़ते हुये मंशादेवी पैदल मार्ग के पास रूके, जहां पर उन्होंने व्यवस्थाओं का जायजा लेते हुये अधिकारियों को निर्देश दिये कि यहां पर प्रकाश की समुचित व्यवस्था की जाये। इसके बाद वे आगे बढ़ते हुये व्यू प्वाइण्ट पर पहुंचे तथा कांवड़ मेले की व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में पूरी हरकीपैड़ी आदि का बारीकी से जायजा लिया तथा हरकीपैड़ी पर पार्किंग आदि व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श किया।

जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान पाया कि मंशादेवी मार्ग के दोनों ओर प्लास्टिक आदि का कूड़ा विखरा पड़ा है। इस पर उन्होंने पुलिस, वन आदि सम्बन्धित विभागों को कल ही एक संयुक्त स्वच्छता अभियान इस रूट पर चलाने के निर्देश अधिकारियों को दिये।
व्यू प्वाइण्ट  से आगे बढते हुये जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक हिलबाईपास का जगह-जगह जायजा लेते हुये आगे बढ़ते रहे तथा अधिकारियों को आवश्यकतानुसार दिशा-निदेश दिये। कहीं-कहीं पर पहाड़ी से लैण्ड स्लाइड की संभावना को देखते हुये जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सम्बन्धित विभाग से विचार-विमर्श करकें चिह्नित स्थानों के लैण्ड स्लाइड का स्थाई समाधान निकाला जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि हिलबाईपास पर जहां पर भी लैण्ड स्लाइड की संभावना है, वहां-वहां पर जे0सी0बी0 की व्यवस्था की जाये। उन्होंने कहा कि हिलबाईपास का उपयोग, पंचक के बाद, कांवड़ मेले के आखिरी दिवसों में, जब श्रद्धालु कावंड़ियों की संख्या बढ़ने लगेगी परिस्थितियों को देखते हुये, किया जायेगा।

हिलबाईपास का पूरा जायजा लेने के बाद वे मोतीचूर रेलवे स्टेशन पहुंचे तथा यहां से गुजरने वालीे रेल गोड़ियों आदि के सम्बन्ध में रेलवे के अधिकारियों से जानकारी ली एवं श्रद्धालु कांवड़ियों की दृष्टि से यहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। मोतीचूर रेलवे स्टेशन का जायजा लेने के बाद जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखण्ड गीता मन्दिर आश्रम, भूपतवाला, श्रीकृष्ण हरिधाम ट्रस्ट, सूखी नदी पुल, जय राम आश्रम नम्बर-2, श्री राम कुमार सेवा सदन, पंजाब सिन्ध क्षेत्र, भामगौड़ा, ऊंचा पुल होते हुये पन्त दीप व चमकादड़ पार्किग पहुंचे तथा इन पार्कों की शौचालय, पानी, विद्युत आदि के सम्बन्ध में अधिकारियों से मौके पर ही जानकारी ली। इस पर अधिकारियों ने बताया कि लगभग सारी व्यवस्थायें पूरी कर ली गयी हैं। जिलाधिकारी ने अधिकारियों से पूछा कि कहीं पर पार्किंग स्थल में जल भराव तो नहीं होता है, अगर कहीं पर कोई ऐसा स्थान है, तो आज ही उसका समाधान करना सुनिश्चित करें।  उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि कांवड़ मेले की तैयारियों में कहीं पर भी कोई ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जायेगी तथा जिसे भी जो कार्य सौंपे गये हैं, वे चाक-चौबन्द होने चाहिये।

जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पन्तदीप व चमकादड़ पार्किंग का निरीक्षण करने के पश्चात बैरागी कैम्प पहुंचे तथा वहां की शौचालय, पानी, बिजली, वॉच टावर आदि की व्यवस्थाओं को देखा तथा कहीं पर अगर सुधार करना है, तो उसके सम्बन्ध में अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिये। यहां का निरीक्षण करने के पश्चात वे शंकराचार्य चौक स्थित कांवड़ का प्रवेश द्वार कांवड़ पट्टी पहुंचे।

जिलाधिकारी एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस मौके पर शंकराचार्य चौक के पास कावंड़ पट्टी पर नगर निगम हरिद्वार द्वारा श्रद्धालु कावंड़ियों को गर्मी से राहत प्रदान करने के लिये लगाये गये स्पेंकलर का शुभारम्भ किया। एमएनए श्री दयानन्द सरस्वती ने इस मौके पर बताया कि नगर निगम हरिद्वार द्वारा इस तरह के चार और स्पेंकलर अलग-अलग स्थानों में कावंड़ पट्टी पर श्रद्धालु कांवड़ियों को गर्मी से राहत देने के लिये स्थापित किये हैं, जिनमें गंगा जल का ही प्रयोग किया जा रहा है।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी(वित्त एवं राजस्व) श्री बीर सिंह बुदियाल, संयुक्त मजिस्ट्रेट भगवानपुर श्री आशीष मिश्रा, एसडीएम श्री पूरण सिंह राणा, एमएनए श्री दयानन्द सरस्वती, एस0पी0 ट्रैफिक सुश्री रेखा यादव, एस0पी0 सिटी श्री स्वतंत्र कुमार सिंह, श्री जे0 आर0 जोशी, अधिशासी अभियन्ता लोक निर्माण श्री सुरेश तोमर, अधिशासी अभियन्ता सिंचाई सुश्री मंजू, अधिशासी अभियन्ता विद्युत श्री एस0एस0 उस्मान, वन, सीओ राकेश रावत, सुश्री जूही मनराल, जिला पर्यटन अधिकारी श्री सुरेश यादव सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *