अल्‍मोडा उत्‍तराखण्‍ड

स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों को किया सम्मानित

अल्मोड़ा। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत सुनीता सन सिटी होटल सभागार में रविवार को क्रांति तीर्थ संगोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के संयोजक प्रो. एनडी कांडपाल ने अतिथियों का पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ ठाकुर ने कहा कि भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में स्वतंत्रता सेनानियों ने अलग-अलग धाराओं के साथ जुड़कर आंदोलन को क्रमबद्ध तरीके से आगे बढ़ाया।

विशेष अतिथि सांसद अजय टम्टा ने स्थानीय स्वतंत्रता आंदोलन पर प्रकाश डालते हुए अल्मोड़ा एवं उत्तराखंड के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्वतंत्रता आंदोलन में योगदान को उद्घाटित किया। इस अवसर पर जनपद के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उत्तराधिकारियों कमलेश पांडे, कैलाश वर्मा, विनोद शर्मा, राधा तिवारी, बद्री दत्त पांडे, तारा चंद्र शाह, भरत पांडे, पुष्कर प्रसाद, गोविंद लाल वर्मा, भगवती नेगी को शॉल ओढ़ाकर तथा प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित किया गया।

संचालन करते हुए डॉ. चन्द्र प्रकाश फुलोरिया ने कहा कि विषम भौगोलिक परिस्थितियों में भी पर्वतीय क्षेत्र के स्वतंत्रता सेनानियों ने आजादी के आंदोलन में बढ़-चढ़कर भागीदारी की। संगोष्ठी के अध्यक्ष एसएसजे विवि के कुलपति प्रो जेएस बिष्ट ने अतिथियों एवं आयोजक मंडल के आभार व्यक्त किया।

संगोष्ठी में पूर्व विधायक कैलाश शर्मा, रघुनाथ सिंह चौहान, जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष ललित लटवाल, प्रो प्रवीण सिंह बिष्ट, प्रो शेखर जोशी, इन्द्र मोहन, जगदीश, विनोद प्रजापति, राजेंद्र जोशी, गिरजा किशोर पाठक, मोहन रावल, हेमंत जोशी, योगेश नयाल, रमेश बहुगुणा, गोविन्द पिल्खवाल, शिवम पाडे, आशुतोष, विरेन्द्र, दिवाकर, गोविन्द लक्ष्मण सिंह भोज, बद्री विशाल अग्रवाल, संजय गुप्ता, सुरेश कांडपाल, विद्या भारती के संभाग निरीक्षक आलम सिंह उनियाल आदि मौजूद रहे। इधर आयोजकों ने कार्यक्रम में बुलाए गए आश्रितों, परिजनों के अलावा अल्मोड़ा नगर के अन्य स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के आश्रितों को कार्यक्रम की सूचना तक देना उचित नहीं समझा, जिससे अन्य स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के उत्तराधिकारियों में रोष व्याप्त है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *