बिजनौर मुरादाबाद राष्‍ट्रीय समाचार

कलयुगी बेटे : पिता का शव रख संपत्ति के लिए भिड़ गए

हुमायूंनगर निवासी वृद्ध ने जिंदगी भर मेहनत-मजदूरी कर जिन पांच बेटों को पाला, उनकी शादी की। वही बेटे पिता के जनाजे को कांधा देने के बजाय घर के बंटवारे को लेकर आपस में ही भिड़ गए। पुलिस पांचों भाइयों को थाने ले आई। घंटों हंगामे के बाद जिम्मेदार लोगों व पुलिस ने समझाकर किसी तरह शांत किया। इसके बाद ही जनाजे को सुपुर्द-ए-खाक किया जा सका।

लोहियानगर थानाक्षेत्र के हुमायूंनगर निवासी 85 वर्षीय महमूद के पांच बेटे हैं। महमूद मंझले बेटे सलीम के साथ रहता थे। बीमारी के चलते गुरुवार को उनकी मौत हो गई। सलीम अपने भाई नईम व मोबीन के साथ महमूद के जनाजे को बाले मियां कब्रिस्तान ले जा रहा था। सुपुर्द-ए-खाक से पहले वे महमूद का जनाजा लेकर मस्जिद पहुंचे तो वहां भाई सिराजुद्दीन व मेहराजुद्दीन भी पहुंच गए। उन्होंने सलीम पर संपत्ति के लिए पिता की हत्या का आरोप लगा दिया और हंगामा शुरू कर दिया।

कब्रिस्तान नहीं ले जाने दिया शव

लोगों ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन दोनों भाई नहीं माने। उन्होंने शव कब्रिस्तान नहीं ले जाने दिया। हंगामे की सूचना पर इंस्पेक्टर केपी सिंह मौके पर पहुंचे तथा वह पांचों भाइयों को थाने ले आए। थाने में मोहल्ले के जिम्मेदार लोगों, रिश्तेदारों व पुलिस ने उन्हें समझाने का प्रयास किया, लेकिन वह नहीं माने।

पुलिस ने समझाया तो हुआ शव सुपुर्द-ए-खाक

भाईयों ने पिता के 75 गज का मकान बिकने के बाद हिस्से के रुपये नहीं मिलने की बात कही। बंटवारे को लेकर दो घंटे हंगामे होता रहा। काफी समझाने-बुझाने पर पांचों भाई मस्जिद पहुंचे और महमूद के जनाजे को कब्रिस्तान ले जाया गया। इसके बाद ही शव सुपुर्द-ए-खाक किया गया। संपत्ति को लेकर पांचों भाइयों का यह विवाद चर्चाओं में रहा।

बाइक मिस्त्री ने जताई हत्या की आशंका

कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के गांव लाला मोहम्मदपुर निवासी बाइक मिस्त्री दीपक वर्मा ने एसपी देहात को बताया कि आरके सिटी निवासी एक युवक उसकी को मारने की धमकी दे रहा है। एसपी देहात ने थानाध्यक्ष को कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

Merruth crime news

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *