देहरादून उत्‍तराखण्‍ड

रस्किन बॉन्ड ने किया देहरादून लिटरेचर फेस्टिवल के 5वें संस्करण के नए लोगो का अनावरण  

देहरादून। देहरादून लिटरेचर फेस्टिवल (डीडीएलएफ) ने आज अपना नया लोगो लॉन्च किया, जो की एक तितली और एक किताब का मिश्रण है, और जो दून घाटी में प्रकृति और साहित्यिक विरासत के समृद्ध मिश्रण का प्रतीक है। लोगो का अनावरण प्रसिद्ध लेखक और पद्म भूषण पुरस्कार विजेता रस्किन बॉन्ड द्वारा किया गया, जो विश्व भर में कई महत्वाकांक्षी लेखकों और पाठकों के लिए मार्गदर्शक और प्रेरणा का स्त्रोत माने जाते हैं।

डीडीएलएफ के संस्थापक और निर्माता समरांत विरमानी ने कहा, “हमारे शहर के लिए एक शाश्वत साहित्यिक प्रेरणा, रस्किन बॉन्ड ने एक उद्धरण साझा किया है जो हम सभी के साथ गहराई से गूंजता है – ‘जब सभी युद्ध खत्म हो जाएंगे, तब भी एक तितली सुंदर ही दिखेगी’। देहरादून लिटरेचर फेस्टिवल के लिए हमारे पुनर्कल्पित लोगो में, इस तितली को साहित्य और प्रकृति के सहज मिश्रण के साथ अपना उचित स्थान मिला है।

यह लोगो हमारे शहर को परिभाषित करने वाली शैक्षिक उत्कृष्टता को भी श्रद्धांजलि देता है। मैं लोगो के नए लॉन्च के लिए रस्किन बॉन्ड को धन्यवाद देता हूं; यह हमारे लिए सम्मान की बात है।”

लोगो लॉन्च करते हुए रस्किन बॉन्ड ने कहा, “उत्तराखंड के अपने साहित्य महोत्सव को समुदाय में इतना प्यार पाते देख मुझे बेहद ख़ुशी हो रही है। मैं नए लोगो के लॉन्च पर देहरादून लिटरेचर फेस्टिवल की पूरी टीम को बधाई देता हूँ और फेस्टिवल के आगामी संस्करण के लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूँ।” अपने 7वें वर्ष में देहरादून लिटरेचर फेस्टिवल शहर के साहित्यिक परिदृश्य का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। फेस्टिवल की गूंज और प्रत्याशा ऐसी है कि देहरादून का साहित्य समुदाय इस फेस्टिवल को अपना मानता है।

आगे बताते हुए समरांत ने कहा, “डीडीएलएफ की शुरुआत के दौरान, हमारे पास प्रतिष्ठित आइकन और साहित्यिक उत्साही लोगों को जोड़ने और देहरादून के साहित्यिक समुदाय के लिए कुछ अच्छा करने का एक दृष्टिकोण था। धीरे-धीरे इस समुदाय ने हमारे फेस्टिवल को अपना लिया। पिछले कई वर्षों में मैंने यह महसूस किया है कि देहरादून शहर का साहित्यिक समुदाय डीडीएलएफ को उस क्षितिज की ओर लेकर जा चुका है जिसकी हमने कभी कल्पना भी नहीं की थी।” इस महोत्सव का 5वां और नवीनतम संस्करण अक्टूबर के आखिरी सप्ताह में आयोजित किया जाएगा।

2023 डीडीएलएफ साहित्य, कला, सिनेमा और पॉप संस्कृति क्षेत्रों के प्रतिष्ठित वक्ताओं की मेजबानी करेगा, और इसका वेन्यू और स्पीकर लिस्ट जल्द ही घोषित की जाएगी। देहरादून लिटरेचर फेस्टिवल ऐतिहासिक शहर देहरादून में साहित्य, संस्कृति और कला का एक वार्षिक उत्सव है, जो अपनी गहरी साहित्यिक, शैक्षिक और प्राकृतिक विरासत से जगमगाता है।

यह महोत्सव विभिन्न क्षेत्रों के लेखकों, कवियों, पाठकों, आलोचकों, पत्रकारों, सांस्कृतिक प्रतीक चिन्हों और कलाकारों को एक साथ लाता है। यह दून घाटी के साहित्यिक उत्साही लोगों और साहित्य, कला और संस्कृति के क्षेत्र के उल्लेखनीय दिग्गजों के बीच साहित्यिक और बौद्धिक आदान-प्रदान की कल्पना करता है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *