Warning
देहरादून उत्‍तराखण्‍ड

Warning उत्तराखंड में लव जिहाद तथा लैंड जिहाद को लेकर उत्तराखंड राज्य निर्माण सेनानियों ने 1950 पर रखे अपने विचार

लव और लैंड जिहाद पर हुई चर्चा

Warning उत्तराखंड राज्य निर्माण सेनानियों की एक बृहद बैठक नगर निगम परिसर स्वर्गीय इंद्रमणि बडोनी हॉल मैं आहूत की गई जिसमें वक्ताओं ने लव जिहाद तथा लैंड जिहाद जो उत्तराखंड में वर्तमान में तेजी से चल रहा है उस पर चिंता व्यक्त की गई वक्ताओं ने कहा कि सरकार को चाहिए इस प्रकार के लोगों का जिलेवार कठोरता से सत्यापन करवाया जाए तथा जितने भी ठेली वाले फड़ लगाने वाले लोग हैं उन पर अंकुश लगाया जाए

अभी हाल में ही मुख्यमंत्री धामी जी द्वारा जो धर्मांतरण निषेध अधिनियम कानून बनाया गया उसका सख्ती से पालन किया जाए वक्ताओं ने यह भी कहा कि भू कानून हिमाचल की तर्ज पर तुरंत लागू किया जाए तथा मूल निवास कट ऑफ डेट 1950 पूर्व की भांति लागू किया जाए इससे भी काफी रोकथाम हो सकती है राज्य निर्माण सेनानियों ने जो हाल में ही धामी जी द्वारा धर्मांतरण निषेध अधिनियम कानून बनाया गया वह अवैध रूप से जितनी भी मजारे बनी हुई थी डोजर से उनको ध्वस्त करवाया गया। इसके लिए भी हम मुख्यमंत्री को तो बधाई देना चाहते हैं। Warning

यह भी पढ़े: Business News घरेलू शेयर बाजार पर दबाव, सेंसेक्स-निफ्टी लुढ़का bad (3 option) important

राज्य निर्माण सेनानियों ने कहा कि अगर समय रहते इस पर अंकुश नहीं लगाया गया तो भविष्य में इसके दुष्परिणाम साबित हो सकते ऐसे लोगों पर समय रहते अंकुश लगाना बहुत आवश्यक है राज्य निर्माण सेनानियों ने सरकार से यह भी मांग की पर्वतीय जिलों की संख्या भी बढ़ाई जाए आने वाला 2026 में परिसीमन क्षेत्रफल के आधार पर करवाया जाए।

राज्य निर्माण सेनानियों ने सरकार को चेतावनी देते कहा कि अगर ऐसे लोगों पर अंकुश नहीं लगाया गया तो राज्य निर्माण सेनानी सड़कों पर उतर कर जन आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी राज्य सरकार की होगी। उत्तराखंड में अभी तक पुरोला उत्तरकाशी देहरादून गोचर डोईवाला जहां भी लव जिहाद के प्रकट हुए हैं उसकी हम सब घोर निंदा करते हैं। Warning

बैठक में ये लोग रहे मौजूद

बैठक के अंत में राज्य निर्माण सेनानी शंभू प्रसाद कंडवाल गीतार नगर निवासी गीताराम उनियाल अमित ग्राम निवासी पुरुषोत्तम दत्त नौटियाल ढाल वाला निवासी सूरत सिंह पुंडीर देहरादून निवासी के आकस्मिक मृत्यु पर शोक संवेदना व्यक्त करते हुए 2 मिनट का मौन रखकर इन चारों लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई तथा भगवान से प्रार्थना की गई इनको अपने चरणों में स्थान दे तथा ऐसे दुख की घड़ी में परिवार पर अपना आशीर्वाद बनाए रखें।

बैठक में मुख्य रूप से वेद प्रकाश शर्मा डीएस गुसाईं गंभीर मेवाड़ बलवीर सिंह नेगी विक्रम भंडारी हुकम पोखरियाल महादेव सिंह राणा बेताल सिंह धनाई सत्य प्रकाश ज़ख्मोला मायाराम उनियाल जुगल किशोर बहुगुणा बृजेश डोभाल युद्धवीर सिंह हरि सिंह नेगी श्रीमती कुसुम लता शर्मा उर्मिला डबराल कमला पोखरियाल सत्तो रामगढ़ चंद्र उनियाल सुशीला राणा रोशनी खरोरा जयंती नेगी सुशीला सजवान कमला रौतेला पुष्पा रावत मनोरमा चमोली देवेश्वरी रावत पुराने गीत शिवानी नौटियाल सहित सैकड़ों लोग मौजूद थे Warning

Warning
Warning

1 COMMENTS

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *